Related Posts with Thumbnails

Monday, 11 March 2013

गुलमर्ग: सपरिवार

पिछली बार 28 जनवरी 2012 को गुलमर्ग गया था, इस बार भी तारीख वही थी, 28 जनवरी  पर साल था 2013, एक और खास बात थी,  और वह थी - परिवार का साथ होना!

4 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

वाह, प्रकृति के सौन्दर्य को समेटता गुलमर्ग..

MANU PRAKASH TYAGI said...

सुंदर है ऐसा ही जैसा हम ने देखा था कुछ नही बदला

जितेन्द़ भगत said...

न बदलना किसी चमत्कार से कम नहीं :)

आशा जोगळेकर said...

खूबसूरत तस्वीरें गुलमर्ग की । ३० साल पहले की यादें ताज़ा हो गईं । आपके परिवार से भी मिलना हुआ चित्रों में ही सही ।