Related Posts with Thumbnails

Sunday, 18 September 2016

गूगल इनपुट टूल से हिंदी लिखना हुआ आसान


मैं कंप्यूटर पर हिंदी लिखने के लिए वॉकमेन चाणक्य फॉण्ट का इस्तमाल करता हूँ और अंगुलियाँ इसी कीबोर्ड के अनुरूप काम करती हैं। अच्छी बात ये है कि ये फॉण्ट किसी अन्य कंप्यूटर पर उपलब्ध न होने के बावजूद इस लिंक से इंडिक सपोर्ट के लिए hindi toolkit डाउनलोड करने के बाद remington को चुनने पर मेरा काम बन जाता है। समस्या ये है कि अंग्रेजी किबोर्ड पर काम करनेवाले लोग हिंदी लिखने के लिए कंप्यूटर पर कौन सा सॉफ्टवेर इनस्टॉल करें? वैसे तो कई तरीके हो सकते हैं मगर जो मुझे आसान तरीका लगा मैं यहाँ बताना चाहता हूँ-
step १ इस लिंक पर क्लिक करें
step २ हिंदी भाषा का चुनाव करने के बाद (साथ ही t&c पर भी टिक करें) डाउनलोड पर क्लिक करें
step ३ डाउनलोड होने के बाद टास्कबार के right में एक आइकॉन नजर आयेगा, वहां से हिंदी या अंग्रेजी में लिख पाएंगे। यदि आपके पास इससे अच्छा विकल्प हो तो हम सभी को जरुर अवगत कराएं!

Thursday, 4 February 2016

जहॉं से चला था, घुम-फि‍रकर वहीं आ गया !


जब मैंने वर्ष 2003 में पढ़ाना शुरू कि‍या था तब कि‍सी परि‍चि‍त ने एक पहॅुचे हुए ज्‍योति‍ष से मि‍लवाया था। उन्‍होंने कहा कि‍ मुझे 40वें साल्‍ में नौकरी मि‍लेगी। 2003 में मैं करीब 27 साल का था और उनकी बात को नजरअंदाज करते हुए सोचा कि‍ क्‍या बकवास है, मैं ज्‍यादा से ज्‍यादा 4-5 साल में नौक्‍री ले लूँगा। पर मुझे क्‍या पता था कि‍ मैं अपनी दि‍शा ही बदल लूँगा। मैं सरकारी नौकरी को छोड़कर प्राइवेट कामों में ध्‍यान लगाने लगा लेकि‍न जल्‍द ही इस लाइन की अनि‍श्‍चि‍तता और अपनी क्षमता का अहसास हो गया और 2014 में कॉलेज में फि‍र से पढाने का नि‍श्‍चय कि‍या। और अब करीब 39वें साल की उम्र में अरविंदो कॉलेज, दि‍ल्‍ली में पढ़ाने का अवसर मि‍ला है तो उस ज्‍योति‍ष की बात सोचकर सुखद हैरानी होती है और वह उम्‍मीद भी जगाती है। उस बात को मैं एक बुजुर्ग के आशीर्वाद के रूप में ग्रहण करता हूँ। हालॉंकि‍ मैं भवि‍ष्‍यवाणी वगैरह पर वि‍श्‍वास नहीं करता।