Related Posts with Thumbnails

Friday, 24 April 2009

चलो बुलावा आया है......

धर्म के बहाने यात्रा या यात्रा के बहाने धर्म का नि‍बाह हो जाना अच्छा लगता है। अगर धार्मिक स्थल पर भीड़ अपेक्षा के बि‍ल्कुल वि‍परीत हो, तो इसका भी अपना आनंद है। मैं बात कर रहा हूँ, वैष्णों देवी (जम्मू) की यात्रा की। कल शाम ही लौटा हूँ, शरीर पूरी तरह थकान से उबरा नहीं है। वि‍स्तृत वि‍वरण एक-दो दि‍न में पोस्ट करुँगा, फि‍लहाल आप सबको जय माता दी !!

11 comments:

अभिषेक ओझा said...

हम इंतज़ार करेंगे... :-)

प्रेमलता पांडे said...

जय माता की!

Udan Tashtari said...

जय माता दी!! इन्तजार रहेगा.

seema gupta said...

जय माता की!

regards

ताऊ रामपुरिया said...

जय माता्जी की.

आप आशिर्वाद लेकर आये हो, थोदा बहुत इधर ब्लागर भाअई बहनों को भी बांट दें.

रामराम.

महामंत्री - तस्लीम said...

आपकी यात्रा मंगलमय हो।

-----------
TSALIIM
Science Bloggers Association

सुशील कुमार छौक्कर said...

जय माता दी।

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

जय माता दी !
जी हाँ जरुर लिखियेगा
-लावण्या

रौशन said...

इंतज़ार रहेगा

कुश said...

जय माता दी !!

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

यह यात्रा बहुत से लोग साल दर साल करते हैं - सामुहिक रूप से।
आस्था के इस बड़े स्तर को मैं छू नहीं पाया हूं।