Related Posts with Thumbnails

Sunday, 26 October 2008

सावधान !! यहॉं जेबरा क्रौसिंग नहीं होता !!

दृश्‍य 1
गाड़ी सडक पर अपनी रफ्तार से दौड़ी जा रही है, आगे मार्केट की भीड़ है। वहॉं कहीं भी जेबरा क्रौसिंग नहीं है, इसलि‍ए माना जाए कि‍ हर जगह जेबरा-क्रौसिंग है। एक संभ्रांत-सी दि‍खनेवाली महि‍ला अचानक कार के आगे आ जाती है, अचानक ब्रेक लेना पड़ता है, वह अपनी गल्‍ती छि‍पाने के लि‍ए मुझे देखकर मुस्‍कुराती है, और सड़क-पार चली जाती है। आगे चलकर एक गरीब महि‍ला सर पर टोकरी लि‍ए सड़क पार कर रही है। उसे कोई परवाह नहीं है कि‍ सामने से कार आ रही है। अचानक ब्रेक लेना पड़ता है, वह मेरी तरफ न देखती है, न ही मुस्‍कुराती है, उसमें न कोई खौफ है न कोई हि‍चकि‍चाहट और वह सड़क-पार चली जाती है।



दृश्‍य 2
सीढ़ि‍यॉं चढ़ते या उतरते हुए जब एक जवान के आगे कोई वृद्ध/वृद्धा सुस्‍त चाल से चढ़ते या उतरते हैं तब उसके मन में क्‍या चल रहा होता है- उफ्, जब तक सीढि‍यॉं खत्‍म नहीं हो जाती,अब इनके पीछे-पीछे चलते रहो। उसे खीज होती है कि‍ ये देखते भी नहीं कि‍ कोई जल्‍दी में है।

वृद्ध/वृद्धा के मन में क्‍या चल रहा होता है- हे भगवान, ये जवान मेरे पीछे-पीछे चलने के लि‍ए मजबूर हो गया है, अनजाने ही सही, कहीं जल्‍दी में ठोकर मारता हुआ नि‍कल गया तो संभलना मुश्‍कि‍ल हो जाएगा। और अगर पॉव लड़खड़ा ही गए तो दुबारा उठ न सकेंगें।



दृश्‍य 3
कनाट प्‍लेस का व्‍यस्‍ततम चौराहा। मैं पैदल जा रहा हूँ। फुटपाथ पर खुराफाती-से लगने वाले दो लड़के बैठे हुए हैं। सामने से दो वृद्ध वि‍देशी दम्‍पत्‍ति‍ आ रहे हैं। उनमें से एक लड़का गोबरनुमा कोई चीज़ उठाकर वृद्ध के जूते पर लगा देता है। दम्‍पत्‍ति‍ को या तो पता नहीं चलता या वे उसकी हरकतों की उपेक्षा कर देते हैं। वे लड़के उनके जाने के बाद आपस में बंदरों की तरह खि‍खयाते हैं, ये देखता हुआ मैं आगे बढ़ जाता हूँ।

29 comments:

Ratan Singh said...

ऐसे द्रश्य अक्सर देखने को मिल जाते है |

masijeevi said...

दृश्‍यों के इन नैरेटिव्‍स की विधा को क्‍या कहा जाएगा ?

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत गहरी नजर है आपकी और साथ ही आप काफी संवेदनशील भी हैं ! वरना तो इन बातो को रोज महसूस करते हुए भी कोई ध्यान नही देता ! आपको, परिवार व इष्ट मित्रो सहित दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं !

राज भाटिय़ा said...

भाई खुब सही लिखा आप ने , यह द्र्श्य ३ जो है यह एक पर्कार की चालकी है जिसे यहां जर्मन मे लोगो को सावधान भी करते है,जब गोरे भारत ओर अफ़्रीका मै घुमने जाते है तो, यह बच्चे गोबर या कोई गन्दी लगा कर फ़िर उन का ध्यान उस तरफ़ ले जाते है, ओर उन की मदद के लिये उसे साफ़ करने के लिये कुछ सहयोग करते है, ओर ध्यान बटने पर उन का समान (इन लडको का साथी)ले कर रफ़ुचक्कर हो जाते है
धन्यवाद
दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

सड़क पर इस से भी अधिक खतरनाक दृष्य देखने को मिलते हैं।

सुशील कुमार छौक्कर said...

क्या कहूँ कल ही रात की बात है सिरीफोर्ट पर जगजीत जी का कार्यक्रम था तो मैं दोस्त का इंतजार कर रहा था। एक पुलिस जिप्सी आई उसमें एक सिपाही उतारा जल्दबाजी में, तो सामने से दो बच्चे साईकिल से आ रहे थे पीछे बैठे बच्चे का हाथ उस सिपाही से हल्का सा टकरा गया और उसका वायरलेस गिर गया और सिपाही ने कहा " वो कुते"। क्या कहे उस की जुबान को।
आप उन घटनाओं पर गौर करते है जिन्हें लोग जानकर छोड जाते है।
और साथ ही आपको दीपावली की ढेरों बधाई।

Arvind Mishra said...

ये दृष्टांत विस्तृत विश्लेषण की मांग करते हैं -आज तो दीपावली की शुभकामनाये ही चलेंगी .

ranjan said...

खुब लिखा जिते्द्र जी.. ऐसे दृश्य अक्सर देखने मिलते हैं..

अनूप शुक्ल said...

सुन्दर नजर!

अभिषेक ओझा said...

वैसे तो आम दृश्य हैं. पर नज़र नज़र की बात है...

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

दीपावली पर शुभकामना और ऐसी ही द्रष्टि रखिये जो ज़माने की हर गतिविधि का आइना बने .बहुत सुँदर भाव हैँ..

संगीता पुरी said...

बहुत अच्‍छा भाव। आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये।

dr. ashok priyaranjan said...

अच्छा िलखा है आपने । दीपावली की शुभकामनाएं । दीपावली का पवॆ आपके जीवन में सुख समृिद्ध लाए । दीपक के प्रकाश की भांित जीवन में खुिशयों का आलोक फैले, यही मंगलकामना है । दीपावली पर मैने एक किवता िलखी है । समय हो तो उसे पढें और प्रितिक्रया भी दें-

http://www.ashokvichar.blogspot.com

कुन्नू सिंह said...

दिपावली की शूभकामनाऎं!!


शूभ दिपावली!!


- कुन्नू सिंह

Mrs. Asha Joglekar said...

हमारी पीडा को समजने का धन्यवाद ।

Udan Tashtari said...

बेहतरीन नजर दौडाई...

आपको एवं आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

अरे बिरादर,
ये गोबर लगाने वाले मासूम से दिखने वाले बदमाश छोकरे, विदेशी पर्यटकों का ध्यान बँटाकर उनके सामान पर हाथ साफ़ करने में सिद्धहस्त हैं. अच्छा हुआ जो उस दंपत्ति ने अनदेखा किया.

आपको दीवाली की बहुत बधाई!

योगेन्द्र मौदगिल said...

आपके परिवार, मित्रों एवं ब्लाग-मंडली को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं
--YOGENDRA MOUDGIL N FAMILY

seema gupta said...

दीप मल्लिका दीपावली - आपके परिवारजनों, मित्रों, स्नेहीजनों व शुभ चिंतकों के लिये सुख, समृद्धि, शांति व धन-वैभव दायक हो॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ इसी कामना के साथ॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ दीपावली एवं नव वर्ष की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं

मुन्ना पांडेय(कुणाल) said...

बहुत संवेदनशील और जासूसी नज़र है आपकी....सही फ़रमाया आपने..
दीपावली की शुभकामनाएं आपको आपके परिवार को...

COMMON MAN said...

bandhu, hamare yahan n to common sense hi hai aur n civic cense, log kahne ko naagrik hain, lekin yahan ke ek pratishat log bhi vastav men naagrik ki paribhasha par khare nahi utrenge

Zakir Ali 'Rajneesh' said...

कबिरा इस संसार में भांति भांति के लोग...

दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।

swati said...

दीपावली की हार्दिक मंगलकामनाएं...

डॉ .अनुराग said...

दीवाली की हार्दिक शुभकामनाये ......जेब्रा क्रॉसिंग का इस्तेमाल इस दीवाली को न करे .....

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर said...

बहुत अच्छा है...... बधाई,
आपको, परिवार सहित दीपावली की शुभकामनायें......

ताऊ रामपुरिया said...

परिवार व इष्ट मित्रो सहित आपको दीपावली की बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएं !
पिछले समय जाने अनजाने आपको कोई कष्ट पहुंचाया हो तो उसके लिए क्षमा प्रार्थी हूँ !

भूतनाथ said...

आपकी सुख समृद्धि और उन्नति में निरंतर वृद्धि होती रहे !
दीप पर्व की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

भूतनाथ said...

आपकी सुख समृद्धि और उन्नति में निरंतर वृद्धि होती रहे !
दीप पर्व की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

alag sa said...

आपको सपरिवार दीपोत्सव की शुभ कामनाएं। सब जने सुखी, स्वस्थ एवं प्रसन्न रहें। यही प्रभू से प्रार्थना है।